आयुष्‍मान भारत योजना क्‍या है , क्या क्या लाभ है

0
563

आयुष्मान भारत योजना के क्या क्या लाभ है

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) भी कहा जाता है. यह वास्तव में देश के गरीब लोगों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम है. PMJAY के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को सालाना 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा मिल रहा है.

क्या है आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) का लक्ष्य?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘प्रधानमंत्री जन आरोग्य’ योजना (आयुष्मान भारत योजना यानी Ayushman Bharat Yojna) की घोषणा की है. इसे पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती पर 25 सितंबर से देशभर में लागू कर दिया गया है.

सरकार Ayushman Bharat Yojna के माध्यम से गरीब, उपेक्षित परिवार और शहरी गरीब लोगों के परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराना चाहती है.

सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना (SECC) 2011 के हिसाब से ग्रामीण इलाके के 8.03 करोड़ परिवार और शहरी इलाके के 2.33 करोड़ परिवार आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) के दायरे में आयेंगे. इस तरह PM-JAY के दायरे में 50 करोड़ लोग आएंगे.

आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में हर परिवार को सालाना पांच लाख रुपये का मेडिकल इंश्योरेंस मिल रहा है. साल 2008 में यूपीए सरकार द्वारा लांच राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (NHBY) को भी आयुष्मान भारत योजना (PM-JAY) में मिला दिया गया है.

Ayushman Bharat Yojna में किसे मिल रहा है कवरेज?

मोदी सरकार की कोशिश यह है कि महिला, बच्चे और सीनियर सिटीजन को Ayushman Bharat Yojna में खास तौर पर शामिल किया जाय. आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में शामिल होने के लिए परिवार के आकार और उम्र का कोई बंधन नहीं है.

सरकारी अस्पताल और पैनल में शामिल अस्पताल में आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) के लाभार्थियों का कैशलेस/पेपरलेस इलाज हो सकेगा.

Ayushman Bharat Yojna की योग्यता का निर्धारण कैसे होता है?


SECC के आंकड़ों के हिसाब से आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में लोगों को मेडिकल इंश्योरेंस मिल रहा है. SECC के आंकड़ों के हिसाब से ग्रामीण इलाके की आबादी में D1, D2, D3, D4, D5 और D7 कैटेगरी के लोग आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में शामिल किये गए हैं.

शहरी इलाके में 11 पूर्व निर्धारित पेशे/कामकाज के हिसाब से लोग आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में शामिल हो सकते हैं. राज्यों में राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में पहले से शामिल लोग खुद ही आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में शामिल हो गए हैं.

ग्रामीण इलाके के लिए Ayushman Bharat Yojna की योग्यता

  • आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में शामिल होने के लिए मोटे तौर पर ये योग्यता हैं:
  • ग्रामीण इलाके में कच्चा मकान, परिवार में किसी व्यस्क (16-59 साल) का नहीं होना, परिवार की मुखिया महिला हो, परिवार में कोई दिव्यांग हो, अनुसूचित जाति/जनजाति से हों और भूमिहीन व्यक्ति/दिहाड़ी मजदूर
  • इसके अलावा ग्रामीण इलाके के बेघर व्यक्ति, निराश्रित, दान या भीख मांगने वाले, आदिवासी और क़ानूनी रूप से मुक्त बंधुआ आदि खुद आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में शामिल हो जायेंगे.

शहरी इलाके के लिए Ayushman Bharat Yojna की योग्यता

  • आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में शामिल होने के लिए मोटे तौर पर ये योग्यता हैं:
  • भिखारी, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामकाज करने वाले, रेहड़ी-पटरी दुकानदार, मोची, फेरी वाले, सड़क पर कामकाज करने वाले अन्य व्यक्ति.
  • कंस्ट्रक्शन साईट पर काम करने वाले मजदूर, प्लंबर, राजमिस्त्री, मजदूर, पेंटर, वेल्डर, सिक्योरिटी गार्ड, कुली और भार ढोने वाले अन्य कामकाजी व्यक्ति
  • स्वीपर, सफाई कर्मी, घरेलू काम करने वाले, हेंडीक्राफ्ट का काम करने वाले लोग, टेलर, ड्राईवर, रिक्शा चालक, दुकान पर काम करने वाले लोग आदि आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में शामिल होंगे.

Ayushman Bharat Yojna में अस्पताल में भर्ती की प्रक्रिया

  • आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) का लाभार्थी अस्पताल में एडमिट होने के लिए कोई चार्ज नहीं चुकाएगा. अस्पताल में दाखिल होने से लेकर इलाज तक का सारा खर्च इस योजना में कवर किया जायेगा.
  • आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) के लाभ में अस्पताल में दाखिल होने से पहले और बाद के खर्च भी कवर किये जायेंगे.
  • पैनल में शामिल हर अस्पताल में एक आयुष्मान मित्र होगा. वह मरीज की मदद करेगा और उसे अस्पताल की सुविधाएं दिलाने में मदद करेगा.
  • अस्पताल में एक हेल्प डेस्क भी होगा जो दस्तावेज चेक करने, स्कीम में नामांकन के लिए वेरिफिकेशन में मदद करेगा.
  • आयुष्मान भारत योजना में शामिल व्यक्ति देश के किसी भी सरकारी/पैनल में शामिल निजी अस्पताल में इलाज करा सकेगा.

क्या-क्या हैं Ayushman Bharat Yojna में शामिल?


आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में तकरीबन हर बीमारी के लिए चिकित्सा और अस्पताल में दाखिल होने का खर्च कवर है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में 1354 पैकेज शामिल किये हैं. इसमें कोरोनरी बायपास, घुटना बदलना और स्टंट डालने जैसे इलाज शामिल हैं.

आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) में इलाज का खर्च केंद्र सरकार की स्वास्थ्य योजना (CGHS) से 15-20 फीसदी कम है.

Ayushman Bharat Yojna के लाभार्थी की योग्यता क्या है?

  • आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) का लाभ लेने के लिए कोई औपचारिक प्रक्रिया नहीं है. एक बार योग्य होने पर आप सीधे इलाज करा सकते हैं. सरकार द्वारा चिन्हित परिवारों के लोग Ayushman Bharat Yojna में शामिल हो सकते हैं.
  • केंद्र सरकार सभी राज्य सरकार और इलाके की अन्य संबंधित एजेंसियों के साथ Ayushman Bharat Yojna के लिहाज से योग्य परिवार की जानकारी साझा करेगी. उसके बाद इन परिवारों को एक फैमिली आइडेंटिफिकेशन नंबर मिलेगा. लिस्ट में शामिल लोग ही आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna ) का लाभ उठा सकते हैं.

जिन लोगों के पास 28 फरवरी 2018 तक राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का कार्ड होगा, वे भी आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna ) का लाभ उठा सकते हैं.

किस अस्पताल में होगा Ayushman Bharat Yojna के लाभार्थी का इलाज?

सभी सरकारी अस्पताल में आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) के लाभार्थी इलाज करा सकते हैं. इसके साथ ही सरकार के पैनल में शमिल निजी अस्पताल में भी Ayushman Bharat Yojna के लाभार्थी इलाज करा सकते हैं.

पैनल में शामिल होने के लिए निजी अस्पताल में कम से कम 10 बेड और इसे बढ़ाने की क्षमता होनी चाहिए.

लाभार्थी सरकार द्वारा Ayushman Bharat Yojna के लिए जारी हेल्पलाइन नंबर पर भी कॉल कर सकते हैं: 14555

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here